‘अमरीका के एक कदम से उत्तर कोरिया के लिए होगी बुरे दिनों की शुरूआत’

वाशिंगटन: उत्तर कोरिया के लगातार मिसाइल परीक्षण से अमरीका बौखलाया हुआ है। गुआम द्वीप पर मिसाइल हमले की धमकी और हाईड्रोजन बम परीक्षण ने अमरीका को एेेसा कदम उठाने पर मजबूर कर दिया है।

सैन्य कार्रवाई निश्चित तौर पर एक विकल्प
मीडिया खबर मुताबिक, अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उत्तर कोरिया के खिलाफ सैन्य विकल्प निश्चित रूप से उनके लिए एक विकल्प है लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई कि उन्हें इसका इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा। कुवैत के अमीर सबा अल-अहमद अल-जबर अल-सबा के साथ कल एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘सैन्य कार्रवाई निश्चित तौर पर एक विकल्प बना रहेगा। क्या यह जरूरी है, कुछ भी जरूरी नहीं है। यह बेहतर होगा अगर इसका कुछ हल निकल सकता।’’

एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा, ‘‘हमें हर विस्तृत जानकारी, हर तथ्य पर ध्यान रखना होगा। लेकिन हमारे पास 25 वर्ष से अब तक ऐसे राष्ट्रपति रहे हैं जो सिर्फ बातें ही करते रहे हैं और जब भी हम किसी समझौते पर पहुंचे उसके एक दिन बाद ही उत्तर कोरिया में परमाणु कार्यक्रम पर नया काम शुरू हो गया।’’ट्रंप ने इस बात पर जोर दिया कि अमरीकी सेना अब कहीं अधिक ताकतवर है। उन्होंने कहा,‘‘उम्मीद है कि हमें उत्तर कोरिया पर इसका इस्तेमाल करने की नौबत नहीं आएगी। अगर हम उत्तर कोरिया पर इसका इस्तेमाल करते हैं तो यह उसके लिए बहुत बुरा दिन होगा।’’उन्होंने कहा,‘‘मैं आपके साथ कोई बातचीत नहीं करने जा रहा हूं। हो सकता है हमें किसी के साथ बातचीत का मौका मिले लेकिन मैं बातचीत नहीं करने जा रहा हूं। पिछले प्रशासन के विपरीत मैं उनके बारे में बात नहीं करता हूं। लेकिन मैं आपको कह सकता हूं कि उत्तर कोरिया बहुत बुरा बर्ताव कर रहा है और उस पर अंकुश लगाना होगा।’’

Related posts

Leave a Comment