फांसी लगाने से पहले किसान 21 पन्नों में लिख गया मौत की वजह

इंदौर राऊ थाना क्षेत्र के रंगवासा में करोड़ों के कर्ज में डूबे वृद्ध किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसकी बाइक की सीट में दबे मिले 21 पन्नों में कर्जदार से परेशान होकर आत्महत्या करने की बात लिखी है।

मृतक का नाम सुरेश खाती (50) है, जिसका शव बुधवार सुबह गांव के श्मशान घाट में नीम के पेड़ से लटका मिला। गांव में ही रहने वाले रवि और ब्रदी ठाकुर सुबह करीब 11 बजे वहां से गुजरे तो शव लटका देख सुरेश के बेटे राहुल को जानकारी दी। पुलिस को मिले 21 पन्नों में लेनदेन का हिसाब है।

जांच अधिकारी एसआई हरनाथ सिंह के मुताबिक सुरेश के दूसरे बेटे गणेश ने बयान में बताया कि उसके पिता ने करीब 6 साल पहले बड़ा गणपति क्षेत्र के राजबहादुर से 1.30 करोड़ रुपए लिए थे। इसके बदले रंगवासा स्थित 9 बीघा जमीन गिरवी रखी थी। पन्नों में इसका उल्लेख राजबहादुर के नाम से है।

एक करोड़ की जमीन बेचकर रख लिए रुपए

गणेश ने पुलिस को बताया कि कुछ समय पहले राजबहादुर ने 3 बीघा जमीन करीब एक करोड़ रुपए में बेचकर रुपए रख लिए। फिर भी वह रुपए की मांग करता रहा। इसके बाद शेष बची 6 बीघा जमीन को भी अपने नाम कर लिया। पिता अपने लेनदेन के बारे में कुछ बताते नहीं थे। कुछ दिन पहले यह बात पता चली तो राजबहादुर से चर्चा कर इस मामले को सुलझाने का कहा। इस पर राजबहादुर ने कहा कि वह तो अपना पूरा पैसा लेगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Related posts

Leave a Comment