ए.सी. की हवा में रहने वाले हो जाएं सावधान, कहीं शनि हो न जाएं नाराज

आजकल गर्मी का कहर जोरों पर है, सूर्य देव तो मानो धरती वासियों से नाराज होकर जमकर अपना कहर बरसा रहे हैं। उनके इन तीखे तेवरों से बचने के लिए ए.सी. की शरण लेनी पड़ती है, जिससे राहत का अनुभव होता है। अब कुछ गिने-चुने स्थानों को छोड़कर हर स्थान पर ए.सी मौजूद होता है। जिस तरह जीवनयापन करने के लिए रोटी, कपड़ा और मकान अवश्यक होते हैं, उसके साथ-साथ अब ए.सी. के बिना रहना भी संभव नहीं है। वह भी जरूरत का अहम हिस्सा बन गया है। क्या आप…

वसुदेव और देवकी जी के दुखों का अंत करने के लिए हुआ राम-श्याम का अवतार

देवकी उग्रसेन के छोटे भाई देवक की सबसे छोटी कन्या थी। कंस अपनी छोटी चचेरी बहन देवकी से अत्यंत स्नेह करता था। जब उनका विवाह वसुदेव जी से हुआ तो कंस स्वयं रथ हांक कर अपनी उस बहन को पहुंचाने चला। रास्ते में आकाशवाणी हुई, ‘‘मूर्ख! तू जिसे इतने प्रेम से पहुंचाने जा रहा है, उसी के आठवें गर्भ से उत्पन्न पुत्र तेरा वध करेगा।’’ आकाशवाणी सुनते ही कंस का सारा प्रेम समाप्त हो गया। वह रथ से कूद पड़ा और देवकी जी के केश पकड़ कर तलवार से उनका…

निर्जला एकादशी आज: व्रत नहीं कर सके, पढ़ें या सुनें महिमा मिलेगा अक्षय पुण्य

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी सबसे अधिक पुण्यफल दायिनी है, क्योंकि इस व्रत के करने से साल भर की सभी एकादशियों के व्रत के समान पुण्यफल की प्राप्ति होती है। इस बार यह एकादशी 5 जून यानि की आज है। इस व्रत में जल का सेवन न करने के कारण ही यह निर्जला एकादशी कहलाती है। पाण्डवों के भाई भीमसेन ने इस एकादशी का व्रत किया था इसलिए यह भीमसैनी एवं पाण्डवा एकादशी के नाम से भी प्रसिद्घ है। अन्य एकादशियों में अन्न का सेवन नहीं किया जाता…

सिवनी कलेक्टर धनराजू एस की पोस्ट हो रही जमकर वायरल

Sion Collector Dhanrajju S's Post Fierce Viral

सोशल मीडिया फेसबुक पर कलेक्टर सिवनी नाम से बने पेज पर जिला कलेक्टर धनराजू एस. के द्वारा लिखी गयी मार्मिक पोस्ट न केवल सराही जा रही है वरन उस पर टिप्पणी करने वालों का तांता लगा हुआ है। कलेक्टर धनराजू एस. ने लिखा है कि : साथियों, जैसा हमेशा होते आ रहा है वैसा ही हो रहा है, वर्तमान चर्चा का विषय तेज गर्मी है । क्योंकि हमारी चिंता एवं चर्चा का विषय मौसमी (Seasonal) है । ग्रीष्म ऋतू में गर्मी की, वर्षा ऋतू में बाढ़ की, चुनाव के दौरान…

महेश जयंती: माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति का दिन

जयेष्ठ माह के शुल्क पक्ष की नवमी को महेश वमी मनाई जात है। माना जाता है कि इसी दिन माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति हुई थी। इसलिए माहेश्वरी समाज द्वारा यह पर्व बड़ी धूमधाम से मनाता है। इस दिन भगवान शिव के निमित्त व्रत व पूजा करने का भी विधान है, जो इस प्रकार है—सुबह जल्दी उठकर नित्य कर्मोंं से निवृत्त होकर स्नान करें व शिवमूर्तिके समीप पूर्व या उत्तर में सुख करके बैठ जायें, हाथ में जल, फल, फूल और गंध—चावल लेकर इस मंत्र से संकल्प लें। नम शिवप्रसाद प्राप्ति…

शनिवार की सुबह घर से बाहर करें ये सामान, शनिदेव करेंगे हर संकट का नाश

हमारे ​भारत में शनिवार के दिन को लेकर बहुत सारी लोक मान्यताएं बताई गई हैं। जो प्राचीन काल से चली आ रही हैं। जिस पर लोग आंख मूंदकर विश्वास करते हैं क्योंकि ये दिन शनि देव से सबंधित है और उनके कोप से हर कोई भय खाता है। कहीं शनि नाराज न हो जाएं, इस बात कर डर सदा मन में बना रहता है। बड़े-बुजुर्गों के कहे अनुसार, हर उस बात पर अमल किया जाता है, जो शनि से संबंधित होती है। ज्योतिष के अनुसार, घर-परिवार पर शनि कृपा होना…

दूसरों के लिए खुश होना चाहिए, तभी हमें भी खुशी मिलेगी

Others should be happy, then we too will be happy

जंगल में एक कौआ रहता था जो अपने जीवन से पूरी तरह संतुष्ट था। एक दिन उसने बत्तख देखी और सोचा, “यह बत्तख कितनी सफेद है और मैं कितना काला। यह बत्तख तो संसार की सबसे ज्यादा खुश पक्षी होगी। उसने अपने विचार बत्तख से बतलाए। बत्तख ने उत्तर दिया, दरअसल मुझे भी ऐसा ही लगता था कि मैं सबसे अधिक खुश पक्षी हूं जब तक मैंने दो रंगों वाले तोते को नहीं देखा था। अब मेरा ऐसा मानना है कि तोता सृष्टि का सबसे अधिक खुश पक्षी है। फिर…

भूलकर भी न करें ये तीन काम, जीवन हो जाएगा बर्बाद

व्यक्ति को जीवन में ऐसे काम करने चाहिए जिससे उसे पुण्य की प्राप्ति हो। लेकिन व्यक्ति कई बार ऐसे काम कर लेता है जिससे उसके सारे पुण्य खत्म हो जाते हैं। वाल्मीकि रामायण में ऐसे ही तीन कामों के बारे में बताया गया है कि जिससे व्यक्ति का जीवन बर्बाद हो जाता है। व्यक्ति को भूलकर भी इन कार्यों को नहीं करना चाहिए। परस्वानां च हरणं परदाराभिमर्शनम्। सुह्मदयामतिशंका च त्रयो दोषाः क्षयावहाः।। दूसरों की वस्तु को हड़पने वाले को महापापी माना जाता है। दूसरों की चीज को छल से या…

मुसीबतों को दूर करने के लिए इन बातों का ध्यान रखें

जीवन में मुसीबतों का आना-जाना लगा रहता है। कुछ लोग मुसीबतों से घबराते हैं और इनसे बचने की कोशिश करते हैं। ऐसे में मुसीबत तो दूर नहीं होती, बल्कि परेशानियां और अधिक बढ़ जाती हैं। यहां जानिए स्वामी विवेकानंद से संबंधित एक चर्चित प्रसंग, इस प्रसंग में ये बताया गया है कि जब मुसीबत आ ही जाए तो क्या करना चाहिए… स्वामी विवेकनन्द मां दुर्गा के मंदिर से निकल रहे थे कि तभी वहां मौजूद बहुत सारे बंदरों ने उन्हें घेर लिया। बंदर स्वामीजी से प्रसाद छिनने लगे और स्वामीजी…

लाइफ मैनेजमेंट- ये 7 बातें ध्यान रखेंगे तो बहुत जल्दी मिल सकती है सफलता

कई बार हम आगे बढ़ने के बारे में सोचते रहते हैं, लेकिन आगे बढ़ते नहीं हैं। क्योंकि हम बदलाव के बारे में समझ ही नहीं पाते हैं। यहां 7 ऐसे कारणों के बारे में बताया जा रहा है, जिनसे पता लगेगा कि अब बारी आगे बढ़कर अपने सपनों को पूरा करने की है, बदलाव को अपनाने की है। जानिए इन कारणों के बारे में… 1. सबसे पहले समझिए कि सब कुछ बदलेगा। चाहे हम उन बदलावों को अपनाएं या नहीं। बदलाव तो होगा ही। अच्छा होगा अगर हम आगे आकर…